Zikra Shayari

Zikra Shayari – Best 30+ Zikra Status In Hindi ( ज़िक्र शायरी )

Zikra Shayari के पोस्ट में आप पढ़े Zikra Shayari In Hindi, Zikra Shayari 2 Line, Zikra Status In Hindi, Zikra Status 2 Line के बेजोड़ कलेक्शन को, जहा पर आप शेरो-शायरियों के और भी मजे ले पाएंगे.

इस पोस्ट में आप पढ़े बेहतरीन ज़िक्र शायरी और स्टेटस के कलेक्शन को, और मजे उठाये हमारे Zikra Shayari के पोस्ट का. और यदि आप हर प्रकार के शब्दों पर शायरी को पढना चाहते है तो आप हमारे Hindi Shayari के कलेक्शन को जरुर पढ़े.


Zikra Shayari


1.
जिक्र तेरा हुआ तो हम महफ़िल छोड़ आये,

हमें गैरों के लबों पे तेरा नाम अच्छा नहीं लगता.

Zikra Tera hua To Ham Mahfil Chor Aaye,
Hame Gairo Ke Labo Pe Tera Naam Achha Nahi Lagta.


2.
ज़िक्र तेरी फ़िक्र तेरा एहसास तेरा ख्याल,

तू खुदा तो नहीं, फिर हर जगह क्यों हैं ?

Zikra Teri Fikra Tera Ehsaas Tera Khyal,
Tu Khuda To Nahi, Fir Har Jagah Kyo Hai ?


Zikra Shayari In Hindi

3.
पूछा न जिंदगी में किसी ने भी दिल का हाल,

अब शहर भर में ज़िक्र मेरी खुदकुशी का है.

Pucha Na Zindagi Mein Kisi Ne Bhi Dil Ka Haal,
Ab Shehar Bhar Mein Zikr Meri Khudkhushi Ka Hai.


Zikra Shayari In Hindi


4.
तेरा ज़िक्र मेरी हर बात मे है,

तू साथ नही पर पास मे है,
में तुझसे बिछड़ कर जौ कहाँ,
तेरा इश्क़ तो मेरी ज़ात मे है.

Tera Zikr Meri Har Bat Me Hai,
Tu Sath Nahi Par Pass Me Hai,
Mein Tujhse Bichad Kar Jau Kahan,
Tera Ishq To Meri Zaat Me Hai.


इन्हें भी पढ़े :- 40+ Kajal Status, Kajal Shayari Urdu


5.
जिक्र तो छोड़ दिया मैंने उसका,

लेकिन कम्बख्त फिक्र नहीं जाती.

Zikra Tp Chor Diya Maine Uska,
Lekin Kambakht Fikra Nahi Jati.


Zikra Status In Hindi

6.
ज़िक्र जब छिड़ गया क़यामत का,

बात पहुँची तेरी जवानी तक.

Zikra Jab Chid Gaya Qayamat Ka,
Baat Pahuchi Teri Javani Tak.


Zikra Status In Hindi


7.
कल तेरा जिक्र हुआ महफ़िल में,

और महफ़िल देर तक महकती रही.

Kal Tera Zikra Hua Mahfil Me,
Aur Mahfil Der Tak Mahakti Rahi.


8.
जब भी होती है गुफ्तगू खुद से,

ज़िक्र तेरा ज़रूर होता है.

Jab Bhi Hoti Hai Guftagu Khud Se,
Zikra Tera Jarur Hota Hai.


9.
हम तेरे कोई नहीं मगर इतना तो बता,

ज़िक्र से मेरे, तेरे दिल में आता क्या है ?

Ham Tere Koi Nahi Magar Itna To Bata,
Zikra Se Mere, Tere Dil Me Aata Kya Hai ?


Zikra Shayari 2 Line


Zikra Shayari 2 Line

 

10.
दिल में तेरी ही यादें हैं जुबां पे तेरा ही ज़िक्र है,

मैं कहता हूँ ये इश्क़ है तू कहती है बस फ़िक्र है.

Dil Me Teri Hi Yaade Hai Jubaan Pe Tera Hi Zikra Hai,
Mai Kahta Hu Ye Ishq Hai Tu Kahti Hai Bas Fikra Hai.


11.
पूछा न जिंदगी में किसी ने भी दिल का हाल,

अब शहर भर में ज़िक्र मेरी खुदकुशी का है.

Punchha Na Zindagi Me Kisi Ne Bhi Dil Ka Haal,
Ab Shahar Bhar Me Zikr Meri Khudkhushi Ka Hai.


12.
कुछ बुरे लोगो का ज़िक्र करने से अच्छा,

कुछ अच्छे लोगो की फ़िक्र कर लू.

Kuchh Bure Logo Ka Zikar Karane Se Achchha,
Kuchh Achchhe Logo Ki Fikr Kar Lu.


Uska Zikr Shayari


13.
ज़िक्र तेरा है या कोई नशा है,

जब जब होता है दिल बहक जाता है.

Zikra Tera Hai Ya Koi Nasha Hai,
Jab Jab hota Hai Dil Bahak Jata Hai.


इन्हें भी पढ़े :- 10+ Fariyad Status ( फरियाद पर शायरी )


14.
प्यार करते हो मुझसे तो इज़हार कर दो,

अपनी मोहब्बत का जिक्र आज सरे आम कर दो,
नहीं करते अगर प्यार तो इंकार कर दो,
ये लो मेरा मासूम दिल इसके टुकड़े हज़ार करदो.

Pyaar Karte Ho Mujhase To Izhaar Kar Do,
Apani Mohabbat Ka Zikra Aaj Sare Aam Kar Do,
Nahi Karte Agar Pyaar To Inkaar Kar Do,
Ye Lo Mera Masoom Dil Isake Tukade Hajaar Kar Do.


15.
जिक्र करता है दिल सुबह शाम तेरा,
गिरते है आंसू बनता है नाम तेरा,
किसी और को क्यों देखें यह आंखें,
जब दिल पर लिखा है नाम तेरा.
Zikra Karta Hai Dil Subah Shaam Tera,
Girte Hai Aansu Banta Hai Naam Tera,
Kisi Aur Ko Kyo Dekhe Yah Aankhe,
Jab Dil Par Likha Hai Naam Tera.

Tera Zikr 2 Line Shayari


Zikra Status 2 Line

16.
तेरा ज़िक्र मेरी इबादत हैं सनम,

मत रोको दुनिया वालों मेरा सनम ख़ुदा है.

Tera Zikr Meri Ibadat hai Sanam.
Mat Roko Duniya walo Mera Sanam Khuda Hai.


17.
तेरे इश्क से मिली है, मेरे वजूद को ये शौहरत,

मेरा ज़िक्र ही कहाँ था, तेरी दास्ताँ से पहले.

Tere Ishq Se Mili Hai, Mere Vajud Ko Ye Shauharat,
Mera Zikr Hi Kaha Tha, Teri Dastan Se Pahale.


18.
किसी हर्फ में किसी बाब में नहीं आएगा,

तेरा ज़िक्र मेरी किताब में नहीं आएगा.

Kisi Harf Me Kisi Bab Me Nahi Aayega,
Tera Zikra Meri Kitaab Me Nahi Aayega.


Zikr Shayari In Urdu


19.
ये तेरा ज़िक्र है या इत्र है, जब-जब करती हूँ,

महकती हूँ, बहकती हूँ, चहकती हूँ.

Ye Tera Zikra Hai Ya Itra Hai, Jab-Jab Karti Hu,
Mahakti hu, Bahakti Hu, Chamakti Hu.


Zikr Shayari In Urdu

20.
मोहब्बत की महफ़िल में आज मेरा ज़िक्र है,

अभी तक याद हूँ उसको खुदा का शुक्र है.

mohabbat Ki Mahfil me Aaj Mera Zikra Hai,
Abhi Tak Yaad hu Usako Khuda Ka Shukra Hai.


21.
तेरा ज़िक्र तेरी फिक्र तेरा एहसास तेरा ख्याल.

तू खुदा नहीं फिर हर जगह मौज़ूद क्यूँ है ?

Tera Zikra Teri Fikra Tera Ahsaas Tera Khyal,
Tu Khuda Nahi Fir Har Jagah Maujud Kyu Hai ?


Shayari On Tera Zikr


22.
मैं अब तो शहर में इस बात से पहचाना जाता हूँ,

तुम्हारा ज़िक्र करना और करते ही चले जाना. अंजुम ख़लीक़

Mai Ab To Shahar Me Is Baat Se Pahchana Jata Hu,
Tumhara Zikra Karna Aur Karte Hi Chale Jana.


इन्हें भी पढ़े :- 30+ Kirdaar Status, Kirdar Shayari Urdu


23.
जिक्र अधूरी मोहब्बत का किसी से ना करना.

मैं खुद सबसे कह दूंगा की उन्हें फुरसत नही मिलती.

Zikra Adhuri Mohabbat Ka Kisi Se Na Karna,
Mai Khud Sabse Kah dunga Ki Unhe Fursat Nahi Milati.


Shayari On Tera Zikr

24.
फ़िक्र तो तेरी आज भी है,

बस जिक्र का हक नही रहा.

Fikar To Teri Aaj Bhi Hai,
Bas Jikar Ka Haq Nahi Raha.


25.
मुझे पढ़ते रहना,

चुपके से तेरा ज़िक्र करुगी एक दिन.

Mujhe Padhte Rahna,
Chupake Se Tera Zikra Karungi Ek Din.


Zikra Status 2 Line


26.
जहाँ भी ज़िक्र हुआ सुकून का,

वहीँ तेरी बाहोँ की याद आयी.

Jaha Bhi Zikr Hua Sukun Ka,
Wahi Teri Baanho Ki Yaad Aayi.


27.
ज़िक्र करते है तेरा हवाओं से अब,

ये तूफ़ान बनके तेरे शहर से गुज़रे तो माफ़ करना.

Zikra Karte Hai Tera Hawao Se Sab,
Ye Tufaan Banke Tere Shahar Se Gujare To Maaf Karna.


28.
तेरे ज़िक्र से ही संवर जाते है,

लफ्ज़ भी क्या तुझे छू आते है.

Tere Zikra Sew Hi Savar Jate Hai,
Lafz Bhi Kya Tujhe Chu Aate Hai.


29.
तेरा ज़िक्र जिसमें हुआ ना हो मेरे पास ऐसा लम्हा ना हो,

मैंने जिसमें तुझको माँगा नहीं मेरे लब पे ऐसी दुआ ना हो.

Tera Zikra Jisame Hua Na Ho Mere Pass Aisa Lamha Na Ho,
Maine Jisame Tujhako Manga Nahi Mere Lab Pe Aisi Dua Na Ho.


Zikra Par Shayari


30.
फ़िक्र तो तेरी आज भी है,

बस जिक्र का हक नही रहा.

Fikar To Teri Aaj Bhi Hai,
Bas Jikar Ka Haq Nahi Raha.


31.
तन्हाई में उनकी ही याद का सहारा मिला,

जिनको नाकाम रहे हम भुलानें में.

Tanhai Me Unaki Hi Yaad Ka Sahara Mila,
Jinako Nakam Rahe Ham Bhulane Me.


इन्हें भी पढ़े :- 40+ Tanhai Status, Tanhai Shayari Urdu


32.
जो सामने जिक्र नही करते,

वो दिल ही दिल मे बहुत फिक्र करते हैं.

Jo Saamane Zikr Nahi Karate,
Wo Dil Hi Dil Me, Bahut Fikr Karate Hai.


33.
मेरी शायरी में सनम. तेरी कहानी है,

जिसके आधे हिस्से मे तेरा ज़िक्र आधे में मेरी दीवानगी है.

Meri Shayari Me Sanam, Teri Kahani Hai,
Jisake Aadhe Hisse Me Tera Zikra Aadhe Me Meri Deevangi Hai.


Shayari On Zikra


34.
साथ दे पाना ना दे पाना अपनी जगह,

फ़िक्र करना, ज़िक्र रखना अपनी जगह.

Sath De Pana Na De Pana Apani Jagah,
Fikra Karna, Zikra Rakhna Aani Jagah.


Final Word :- 

आशा करता हु कि आपको हमारा Zikra Shayari का पोस्ट जरुर पसंद आया होगा, इसी तरह के और शायरियों को पढ़ने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को जरुर पढ़े.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *