Shikayat Shayari – Best 20+ Shikayat Status In Hindi ( शिकायत शायरी )

Shikayat Shayari के पोस्ट में आपको मिलेगा Shikayat Shayari In Hindi, Shikayat Shayari 2 Line, Shikayat Status In Hindi, Shikayat Status 2 Line के बेजोड़ कलेक्शन को, जहा पर आप शेरो-शायरियों के और भी मजे ले पाएंगे.

Shikayat Shayari

1.
ज़िन्दगी से अगर शिकायत करते रहोगे,
तो खुद को दिन-ब-दिन कमज़ोर करते रहोगे.

Zindagi Se Agar Shikayat Karte Rahoge,
To Khud Ko Din-Ba-Din Kamjor Karte Rahoge.


2.
हम को पहले भी न मिलने की शिकायत कब थी,
अब जो है तर्क-ए-मरासिम का बहाना हम से.

Ham Ko Pahle Bhi Na Milane Ki Shikayat Kab Thi,
Ab Jo Hai Tark-Ae-Marasijm Ka Bahana Ham Se.


Shikayat Shayari In Hindi


3.
तुझसे कोई शिकायत हम करे भी तो कैसे करें,
दिल ही इजाज़त नहीं देता तेरे खिलाफ़ बोलने की.

Tujhse Koi Shikayat Ham Kare Bhi To Kaise Kare,
Dil Hi Ijaazat Nahi Deta Tere Khilaaf Bolane Ki.


इन्हें भी पढ़े :- 50+ Fasla Status ( फासला पर शायरी )


4.
उस शख़्श की चाहत मे कमी हो ही नहीं सकती,
जो दिल टूटने पर भी कभी शिकायत न करे.

Us Shakhsh Ki Chahat Me Kami Ho Hi Nahi Sakti,
Jo Dil Tootane Par Bhi Kabhi Shikayat Na Kare.


5.
खुद से होती है जाने शिकायतें कितनी,
जिन्हें किसी से कोई शिकायत नहीं होती.

Khud Se Hoti Hai Shikayate Kitani,
Jinhe Kisi Se Koi Shikayat Nahi Hoti.


6.
तुम सामने आये तो, अजब तमाशा हुआ,
हर शिकायत ने जैसे, खुदकुशी कर ली.

Tum Samne Aaye To, Ajab Tamasha Hua,
Har Shikayat Ne Jaise, khudkhushi Kar Li.


Shikayat Status In Hindi


7.
शिकायत तुम्हे वक्त से नहीं खुद से होगी,
कि मोहब्बत सामने थी, और तुम दुनिया में उलझी रही.

Shikayat Tumhe Waqt Se Nahi Khud Se Hogi,
Ki Mohabbat Samne Thi, Aur Tum Dunuiya Me Ulajhi Rahi.


8.
इश्क है अगर शिकायत न कीजिए,
और शिकवे है तो मोहब्बत न कीजिए.

Ishq Hai Agar Shikayat Na Kijiye,
Aur Shikve Hai To Mohabbat Na Kijiye.


9.
नज़रों के सिलसिले थे रिश्ता कोई न था,
किस से करें शिकायत अपना कोई न था. एहसास मगहरी

Nazaro Ke Silsile The Rishta Koi Na Tha,
Kis Se Kahe Shikayat Apana Koi Na Tha.


इन्हें भी पढ़े :- 30+ Wajood Status In Hindi With Images


10.
शिकवा तो बहुत है मगर शिकायत नहीं कर सकते,
मेरे होठों को इजाजत नहीं तेरे खिलाफ बोलने की.

Shikwa To Bahut Hai Magar Shikayat Nahi Kar Sakte,
Mere Hotho Ko Ijaazat Nahi Tere Khilaaf Bolane Ki.


Shikayat Shayari In Urdu


11.
शिकायत ज़िंदगी से नहीं,
उनसे है जो ज़िन्दगी में नहीं.

Shikayat Zindagi Se Nahi,
Unase Hai Jo Zindagi Me Nahi.


12.
कोई चराग़ जलाता नहीं सलीक़े से,
मगर सभी को शिकायत हवा से होती है. – ख़ुर्शीद तलब

Koi Charaag Jalata Nahi Salike Se,
Magar Sabhi Ko Shikayat Hawa Se Hoti Hai.


13.
उसे इंतजार से क्या शिकायत,
जो तेरे इंतजार पे खत्म हो.

Use Intajaar Se Jya Shikayat,
Jo Tere Intajaar Pe Khatm Ho.


14.
क्यूँ शिकायत हो खताओं की कभी ऐ दोस्त,
ज़िंदगी यूँ भी खताओं के सिवा कुछ भी नहीं.

Kyu Shikayat Ho khataao Ki Kabhi Ae Dost,
Zindagi Yu Bhi Khataao Ke Siva Kuch Bhi Nahi.


Shikayat Shayari 2 Line


15.
जुदा तो एक दिन सांसें भी हो जाती है
तो फिर शिकायत सिर्फ मोहब्बत से ही क्यों.

Juda To Ek Din Sanse Bhi Ho Jati Hai,
To Fir Shikayat Sirf Mohabbat Se Hi Kyo.


16.
मोहब्बत ही में मिलते हैं शिकायत के मज़े पैहम,
मोहब्बत जितनी बढ़ती है शिकायत होती जाती है. – शकील बदायुनी

Mohabbat Hi Me Milte Hai Shikayat Ke Maje Paiham,
Mohabbat JitaniBadi Hai Shikayat Hoti Jati Hai.


इन्हें भी पढ़े :- 25+ Gunaah Status ( गुनाह पर शायरी )


17.
वो करते हैं शिकायत हमसे,
कि हम हर किसी को देखकर मुस्कुराते हैं,
शायद उन्हें नहीं पता कि,
हमें हर मुखड़े में सिर्फ वो ही नज़र आते हैं.

Vo Karte Gai Shikayat Hamse,
Ki Ham Har Kisi Ko Dekhkar Muskurate Hai,
Saayad Unhe Nahi Pata Ki,
Hame Har Mukhade Me Sirf Vo Hi Najar Aate Hai.


18.
शिकायत क्या करें हम इन अंधेरी रातों से,
मेरी जिंदगी में अंधेरा तो दिन में भी रहता है.

Shikayat Kya Kare Ham In Andheri Rato Se,
Meri Zindagi Me Andhera To Din Me Bhi Rahta Hai.


Shikayat Status 2 Line


19.
कर दोगे बंद मुझसे कोई शिकायत करना,
जिस दिन मेरे दिल मे झांककर देखोगे.

Kar Doge Band Mujhase Koi Shikayat Karna,
Jis Din Mere Dil Me Jhakkar Dekhoge.


20.
न होगी कोई शिकायत बीती बातों का,
गर फिर से आप मेरे मेहरम बन जाओ.

Na Hogi Koi Shikayat Biti Bato Ka,
Gar Fir Se Aap Mere Mehram Ban Jaao.


21.
सरेआम ये शिकायत है मुझे ज़िन्दगी से,
क्यों मिलता नहीं मिजाज मेरा किसी से.

Sareaam Ye Shikayat Hai Mujhe Zindagi Se,
Kyo Milta Nahi Mijaaj Mera Kisi Se.

Final Word :-

आशा करता हु कि आपको हमारा Shikayat Shayari का पोस्ट जरुर पसंद आया होगा, इसी तरह के और शायरियों को पढ़ने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को जरुर पढ़े.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *