Shaam Shayari / Best 40+ Shaam Status, Shaam Gulabi Shayari

Shaam Shayari के पोस्ट में आप पढ़ सकते है, Shaam Shayari In Hindi, Shaam Shayari 2 Line, Shaam Status In Hindi, Shaam Status 2 Line, के जबरजस्त कलेक्शन. जिस आप पढ़कर इस पोस्ट के लुफ्त उठा पायेंगे.

हमारे पोस्ट में आपका स्वागत है दोस्तों, आज हम बात करेंगे शायरियों के बेजोड़ कलेक्शन को लेकर, जिसमे आप पढ़े Shaam Shayari के बारे में, और दोस्तों हम आशा करते है की आपको यह पोस्ट जरुर पसंद आया होगा, तो चलिए दोस्तों शुरू करते है शेरो-शायरियों को पढना.


Shaam Shayari


1.
हम भी इक शाम बहुत उलझे हुए थे ख़ुद में,

एक शाम उस को भी हालात ने मोहलत नहीं दी. – इफ़्तिख़ार आरिफ़

Ham Bhi Ek Shaam Bahut Uljhe Hue The Khud Me,
Ek Shaam Us Ko BhI Halat Ne Mohalat Nahi Di.


2.
कभी तो शाम ढले अपने घर गए होते,

किसी की आँख में रह कर सँवर गए होते.

Kabhi To Shaam Dhale Apane Ghar Gaye Hote,
Kisi Ki Aankh Me Rah Kar Savar Gaye Hote.


3.
है शाम को मिलने का वादा किसी का.

उस सूरज से बोलो जल्दी डूब जाए,

Hai Shaam Ko Milne Ka Vada Kisi Se,
Us Suraj Se Bolo Jaldi Doob Jaye.


Shaam Shayari In Hindi


4.
सौ दिये जले फिर भी सौ दिये जले फिर भी

अधुरी है मेरी शाम तेरे बिना.

Sau Diye Jale Fir Bhi Sau Diye Jale Fir Bhi,
Adhuri Hai Meri Shaam Tere Bina.


इन्हें भी पढ़े :- 40+ Tanhai Status, Tanhai Shayari Urdu


5.
भीगी हुई इक शाम की दहलीज़ पे बैठे,

हम दिल के सुलगने का सबब सोच रहे हैं.

Bheegee Huyi Ek Shaam Ki Dahlij Pe Baithe,
Ham Dil Ke Sulagne Ka Sabab Soch Rahe Hai.


6.
ये इंतजार ग़लत है की शाम हो जाए,

जो हो सके तो अभी दौर-ऐ-जाम हो जाए. – नरेश कुमार शाद

Ye Intajar Galat Hai Ki Shaam Ho Jaye,
Jo Ho Sake To Abhi Dau-Ae-Jaam Ho Jaye.


7.
ख़्वाबों के पंछी कब तक शोर करेंगे पलकों पर,

शाम ढलेगी और सन्नाटा शाखों पर हो जाएगा.

Khwabo Ka Panchi Kab Tak Shor Karenge Palko Par,
Shaam Dhalegi Aur Sannata Shakho Par Ho Jayega.


Shaam Shayari 2 Line


8.
एक शाम आती हैं तेरी याद लेकर,

एक शाम जाती हैं तेरी याद लेकर,
हमें तो उस शाम का इन्तजार है,
जो आयें तुम्हे साथ लेकर.

Ek Shaam Aati Hai Teri Yaad Lekar,
Ek Shaam Jati Hai Teri Yaad Lekar,
Hame To Us Shaam Ka Intajar Hai,
Jo Aaye Tumhe Sath Lekar.


9.
तेरे आने की उम्मीद और भी तड़पाती है,

मेरी खिड़की पे जब शाम उतर आती है. – अज्ञात

Tere Aane Ki Ummid Aur Bhi Tadpati Hai,
Meri Khidki Pe Jab Shaam Utar Jati Hai.


10.
वो न आएगा हमें मालूम था इस शाम भी,

इंतिज़ार उस का मगर कुछ सोच कर करते रहे. – परवीन शाकिर

Vo Na Aayega Hame Maalum Tha Is Shaam Bhi,
Intajar Us Ka Magar Kuch Soch Kar Karte Rahe.


11.
साक़िया एक नज़र जाम से पहले पहले,

हम को जाना है कहीं शाम से पहले पहले. – अहमद फ़राज़

Sakiya Ek Nazar Jaam Se Pahle Pahle,
Ham Ko Jana Hai Kahi Shaam Se Pahle Pahle.


Shaam Status In Hindi


12.
शाम, उदासी, ख़ामोशी, कुछ कंकर, तालाब और मैं,

हर शब्द पकड़े जाते हैं, गहरी नींद, क़िताब और मैं.

Shaam, Udasi, Khamoshi, Kuch Kankar, Talab Aur Mai,
Har Shabd Pakde Jate Hai, Gahari Neend, Kitaab Aur Mai.


इन्हें भी पढ़े :- 30+ Ehsaas Status, Ehsaas Shayari Urdu


13.
तेरी हर मुस्कान की सादगी छाई है,

आज की शाम आपके लिए सज धज के आई है.

Treri Har Muskaan Ki Saadgi Chayi Hai,
Aaj Ki Shaam Aapake Liye Saj Dhaj Ke Aayi Hai.


14.
ये उदास शाम और तेरी ज़ालिम याद,

खुदा खैर करे अभी तो रात बाकी है.

Ye Udaas Shaam Aur Teri Jalim Yaad,
Khuda Khair Kare Abhi To Raat Baaki Hai.


15.
शायर कहकर बदनाम ना करना मुझे दोस्तो,

मै तो रोज शाम को दिनभर का हिसाब लिखता हूं.

Shaayar Kahkar Badnam Na Karna Mujhe Dosto,
Mai To Roj Shaam Ko Denbhar Ka Hisaab Likhta Hu.


Shaam Status 2 Line


16.
सुना कि अब भी सर-ए-शाम वो जलाते हैं,

उदासियों के दिये मुंतज़िर निगाहों में.

Suna Ki Ab Bhi Sar-Ae-Shaam Vo Jalaate Hai,
Udaasiyo Ke Diye Mutanjir Nigaho Me.


17.
हमारे घर के क़रीब एक झील होती थी,

और उस में शाम को सूरज नहाया करता था.

Hamare Ghar Ke Kabir Ek Jheel Hoti Thi,
Aur Us Me Shaam Ko Suraj Nahaya Karta Tha.


18.
अब तो हर शाम गुज़रती है उसी कूचे मे,

ये नतीजा हुआ नासेह तेरे समझाने का.

Ab To Har Shaam Gujarti Hai Usi Kuche Me,
Ye Nateeja Hua Naaseh Tere Samjhane Ka.


19.
कभी तो आसमाँ से चाँद उतरे जाम हो जाए,

तुम्हारे नाम की इक ख़ूबसूरत शाम हो जाए. – बशीर बद्र

Kabhi To Aasmaan Se Chand Utare Jaam Ho Gaye,
Tumhare Naam Ki Ek Khubsurat Shaam Ho Jaye.


Zindagi Ki Shaam Shayari


20.
दिल भी बुझा हो शाम की परछाइयाँ भी हों,

मर जाइये जो ऐसे में तन्हाइयाँ भी हों.

Dil Bhi Bujha Ho haam Ki Pachaiya Bhi Ho,
Mar Jaiye Jo Aise Me Tanhaiya Bhi Ho.


इन्हें भी पढ़े :- 40+ Ishq Status, Ishq Shayari Punjabi


21.
यूँ तो हर शाम उम्मीदों में गुज़र जाती है,

आज कुछ बात है जो शाम पे रोना आया.

Yu To Har Sham Ummido Me Gujar Jati Hai,
Aaj Kuch Baat Hai Jo Shaam Pe Rona Aaya.


22.
गुल हुई जाती है अफ़सुर्दा सुलगती हुई शाम,

धुल के निकलेगी अभी,चश्म-ए-महताब से रात. – फ़ैज़

Gul Huyi Jati Hai Afsurda Huyi Shaam,
Dhool Ke Nikalne Abhi, Chashma-Ae-MahtaabSe Raat.


23.
कोई लश्कर है के बढ़ते हुए ग़म आते हैं

शाम के साये बहुत तेज़ क़दम आते हैं.

Koi TashkarHai Ke Badhte Hue Gam Aate Hai,
Shaam Ke Saye Bahut Tej Kadam Aate Hai.


Shaam Shayari Gulzar


24.
अब तो चुप-चाप शाम आती है,

पहले चिड़ियों के शोर होते थे. – मोहम्मद अल्वी

Ab To Chup-Chap Shaam Aati Hao,
Pahle Chidiyo Ke Shor Hote The.


25.
हमने एक शाम चिरागो से सज़ा रखी है,

शर्त लोगो ने हवाओं से लगा रखी है.

Hamne Ek Shaam Chirago Se Saza Rakhi Hai,
Shart Logo Ne Havao Se Laga Rakhi.


26.
जिसमें न चमकते हों मोहब्बत के सितारे,

वो शाम अगर है तो मेरी शाम नहीं है.

Jisame Chamakte Ho Mohabbat Ke Sitare,
Vo Shaam Hai To Meri Shaam Nahi Hai.


27.
उधर इस्लाम ख़तरे में,इधर है राम ख़तरे में,

मगर मैं क्या करूँ,है मेरी सुब्हो-शाम ख़तरे में.

Ushar Islam Khatre Me, Idhar Hai Raam Khatre Me.
Magar Mai Kya Karu, Hai Meri Subho-Shaam Khatre Me.


Shaam Gulabi Shayari


28.
अब उदास फिरते हो सर्दियों की शामों में,

इस तरह तो होता है इस तरह के कामों में.

Ab Udas Firte Hai Sardiyo Ki Shaamo Me,
Is Tarah To Hota Hai Is Tarah Ke Kaamo Me.


29.
उसने पूछा कि कौनसा तोहफा है मनपसंद,

मैंने कहा..वो शाम जो अब तक उधार है.

Usne Pucha Ki Kaunsa Tohfa Hai Manpasand,
Maine Kaha Vo Shaam Jo Ab Tak Udhaar Hai.


इन्हें भी पढ़े :- 50+ Neend Status, Neend Shayari Gulzar


30.
हुई शाम उनका ख़याल आ गया,

वही ज़िंदगी का सवाल आ गया.

Huyi Shaam Unka Khyal Aa Gaya,
Vaha Zindagi Ka Savaal Aa Gaya.


31.
रात सारी तड़पते रहेंगे हम अब,

आज फिर ख़त तेरे पढ़ लिए शाम को.

Raat Sari Tadapte Rahenge Ham Sab,
Aaj Fir Khat Tere Padh Liye Shaam Ko.


Dhalti Shaam Ki Shayari In Urdu


32.
हम दुनिया से जब तंग आया करते हैं,

अपने साथ इक शाम मनाया करते हैं.

Ham Duniya Se Jab Tang Aaya Karte Hai,
Apane Sath Ek Shaam Manaya Karte Hai.


33.
ऐ दरख़्तों, शाम ढल गई, उम्मीद छोड़ दो,

अब वो परिंदा नहीं आएगा.

Ae Darakhto, Shaam Dhal Gayi, Ummide Chor Do,
Ab Vo Parinda Nahi Aayega.


34.
हुई जो शाम तो अपना लिबास पहना कर,

शफ़क़ को जैसे दम-ए-इंतिज़ार भेजा है.

Huyi Jo Shaam To Apana Libaas Pahna Kar,
Shafak Ko Jaise Dam-Ae-Intijar Meja Hai.


35.
यूँ तो हर शाम उमीदों में गुज़र जाती है,

आज कुछ बात है जो शाम पे रोना आया.

Yu To Har Shaam Ummido Se Gujar Jati Hai,
Aaj Kuch Baat Hai Jo Shaam Pe Shaam Pe Rona Aaya.


Shaam Shayari Rekhta


36.
हिकायत-ए-ख़लिश-ए-जान-ए-बेक़रार न पूछ,

शुमार-ए-शाम-ओ-सहर ऐ निगाह-ए-यार न पूछ.

Hikayat-Ae-Khalish-Ae-Jaan-Ae-Bekaraar Na Puch,
Shumaar_Ae-Shaam-Oo-Sahar Ae Nigaah-Ae-Yaar Na Puch.


37.
शाम-ए-ग़म हम पे ये बात रौशन हुई,

सोज़-ए-दिल चाहिये आदमी के लिये.

Shaam-Ae-Gam Ham Pe Ye Baat Raushan Huyi,
Soj-Ae-Dil Chahiye Aadami Ke Liye.


38.
कई ख्वाब मुस्कुराये सरे-शाम बेखुदी में,

मेरे लब पे आ गया था तेरा नाम बेखुदी में.

Kai Khwaab Muskuraye Sare-Shaam Cekhudi Me,
Mere Lab Pe Aa Gaya Tha Mera Naam Bekhudi Me.


39.
ज़िन्दगी की शाम ढलती जा रही है,

घुल रहा है देखिये सिन्दूर मुझमें.

Zindagi Ki Shaam Dhalti Ja Rahi Hai,
Dhool Raha Hai Dekhiye Sindur Mujhame.


इन्हें भी पढ़े :- 60+ Yaad Status, Quotes With Images


40.
शाम से उन के तसव्वुर का नशा था इतना,

नींद आई है तो आँखों ने बुरा माना है.

Shaam Se Un Ke Tasavvur Ka Nasha Tha Itna,
Neend Aayi Hai To Aankho Ne Bura Mana Hai.


Shaam Shayari In English


41.
उसने पूछा कि कौनसा तोहफा है मनपसंद ?

मैंने कहा वो शाम जो अब तक उधार है.

Usane Puch Ki Kaunsa Tohfa Hai Manpasand ?
Maine Kaha Vo Jo Shaam Jo Ab Ab Tak Udhar Hai.


42.
मुद्दत से एक रात भी अपनी नहीं हुई,

हर शाम कोई आया उठा ले गया मुझे.

Muddat Se Ek Raat Bhi Apani Nahi Hayi,
Har Shaam Koi Aaya Utha Le Gaya Mujhe.


43.
भीगी हुई इक शाम की दहलीज़ पे बैठे,
हम दिल के सुलगने का सबब सोच रहे हैं.

Bheegee Huyi Ek Shaam Ki Dahleej Pe Baithe,
Ham Dil Ke Sulagne Ka Sabab Soch Rahe Hai.


Final Word :-

आशा करता हु कि आपको हमारा Shaam Shayari का पोस्ट जरुर पसंद आया होगा, इसी तरह के और शायरियों को पढ़ने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को जरुर पढ़े.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *