Hisaab Shayari – Best 10+ Hisaab Status ( हिसाब शायरी )

Hisaab Shayari में आपको मिलेगा, Hisaab Shayari In Hindi, Hisaab Shayari 2 Line, Hisaab Status In Hindi, Hisaab Status 2 Line के कलेक्शन को, जहा पर आप पढ़े Hisaab Shayari हिंदी में.

इस पोस्ट में आपके लिए मिलेगा जबरजस्त हिसाब शायरी हिंदी में जिसे शेरो-शायरियों को पढ़ने वाले दिवानो के लिए बनाया गया है और हम आशा करते है कि आपाको यह पोस्ट जरुर पसंद आया होगा और आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों को भी जरुर शेयर करेंगे.


Hisaab Shayari


Hisaab Shayari In Hindi

1. मत कर हिसाब मेरे प्यार का कही ऐसा ना हो, बाद में की तू ही कर्जदार निकले.

Mat Kar Hisaab Mere Pyaar Ka Kahi Aisa Na Ho, Baad Me Ki Tu Hi Karjdaar Nikale.


Hisaab Shayari In Hindi


Hisaab Shayari 2 Line

2. ख़्वाब और तमन्ना का क्या हिसाब रखना है, ख़्वाहिशें हैं सदियों की उम्र तो ज़रा सी है. सरवत ज़ेहरा

Khwaab Aur Tamanna Ka Kya Hisaab Rakhna Hai, Khwaahishe Hai Sadiyo Ki Umra To Jara Si Hai.

इन्हें भी पढ़े :- Gumnaam Status ( गुमनाम शायरी )


Hisaab Status

3. ज़िन्दगी के हिसाब किताब भी बड़े अजीब थे, जब तक हम अज़नबी थे ज्यादा करीब थे.

Zindagi Ke Hisaab Kitna Bhi Bade Ajib The, Jab Tak Ham Ajnabi The Jyaada Karib The.

Hisaab Shayari 2 Line


Hisaab Status In Hindi

4. हिसाब अपनी मोहब्बत का मै क्या दूँ, तुम अपनी हिचकियो को बस गिनते रहना.

Hisaab Apani Mohabbat Ka Mai Ka Du, Tum Apani Hichkiyo Ko Bas Ginate Rahna.

Hisaab Status 2 Line

5. आता है दाग-ए-हसरत-ए-दिल का शुमार याद, मुझसे मेरे गुनाह का हिसाब ऐ खुदा न माँग. मिर्ज़ा ग़ालिब

Aata Hai Daag-Ae-Dil Ka Shumaar Yaad, Mujhase Mere Gunaah Ka Hisaab Ae Khuda Na Maag.

 Hisaab Status In Hindi


6. हिसाब बराबर रहा, चलो कुछ गम नहीं, हमारे पास तुम नहीं तुम्हारे पास हम नहीं.

Hisaab Baraabar Raha, Chalo Kuch Gam Nahi, HamarePaas Tum Nahi Tumhare Paas Ham Nahi.

इहे भी पढ़े :- Darmiyaan Status With Images


Hisaab Shayari For Fb

7. अगर मोहब्बत की हद नहीं कोई, तो दर्द का हिसाब क्यूँ रखूं.

Agar Mohabbat Ki Had Nahi Koi, To Dard Ka Hisaab Kyu Rakhu.

Hisaab Status 2 Line


8. मत कर हिसाब किसी के प्यार का, कहीं बाद में तू खुद ही कर्ज़दार न निकले.

Mat Kar Hisaab Ke Pyaar Ka, Kahi Yaad Me Tu Khud Hi Karjdaar Na Nikale.

9. हो लिए जिस के हो लिए ‘बेख़ुद’, यार अपना तो ये हिसाब रहा. बेख़ुद देहलवी

Ho Liye Jis Ke Ho Liye Bekhud, Yaar Apana Vo Ye Hisaab Raha.

Hisaab Par Shayari


10. होने लगा है हिसाब, नफे और नुकसान का, मासूम सी मोहब्ब़त, व्यापार हो गई.

Hone Laga Hai Hisaab Nafe Aur Nuksaan Ka, Maasum Se Mohabbat Vyapar Ho Gayi.

11. अपने हिसाब से रहना, वरना बेहिसाब करना मैं जानती हूं.

Apane Hisaab Se Rahna, Varna Bemisaal Karna Mai Janti Hu.

Final Word :-

आशा करता हु कि आपको हमारा Hisaab Shayari का पोस्ट जरुर पसंद आया होगा, इसी तरह के और शायरियों को पढ़ने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को जरुर पढ़े.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *