Gunaah Shayari | Best 25+ Gunaah Status ( गुनाह पर शायरी )

Gunaah Shayari के पोस्ट में आपको मिलेगा Gunaah Shayari In Hindi, Gunaah Shayari 2 Line, Gunaah Status In Hindi, Gunaah Status 2 Line के बेजोड़ कलेक्शन को, जहा पर आप शेरो-शायरियों के और भी मजे ले पाएंगे.


Gunaah Shayari

1.
तेरी रहमत भी मोहताज़ है मेरे गुनाहों की,
मेरे बिना तू भी खुदा हो नहीं सकता.

Teri Rahmat Bhi Mohtaj Haio Mere Gunaho Ki,
Mere Bina Tu Bhi Khuda Ho Nahi Sakta.

2.
तेरी ख्वाहिश कर ली तो कौन सा गुनाह किया,
लोग तो इबादत में पूरी क़ायनात मांगते हैं खुदा से.


Gunaah Shayari In Hindi


Teri Khwahishe Kar Li To Kaun Sa Gunaah Kiya,
Log To Ibaadat Me Puri Qaynat Mangte Hai Khuda Se.

3.
ऐसा नहीं है कि हमें बातें बुरी नहीं लगती,
एक बस तेरे लिये सारे गुनाह माफ़ है.

Aisa Nahi Hai ki Hame Bate Buri Nahi Lagti,
Ek Bas Tere Liye Sare Gunaah Maaf Hai.


इन्हें भी पढ़े :- Nasha Status In Hindi ( नशा पर शायरी )

4.
प्यारे, मैं उन गुनाहो के सदके जो तेरा दीदार करा दे,
हर सजाए सर आखो पर मेरी जो मुझे तुमसे मिला दे.

Pyare, Mai Un Gunaaho Ke Sadke Jo Tera Deedar Kara De,
Har Sajaye Sir Aankho Par Meri Jo Mujhe Tumse Mila Sake.

5.
बेगुनाह कोई नही, सबके राज़ होते है,
किसी के चुप जाते है, किसी के छप जाते है.

Begunaah Koi Nahi, Sabke Raaz Hote Hai,
Kisi Ke Chhup Jate Hai, Kisi Ke Chap Jate Hai.

6.
मैं रोज गुनाह करता हूँ वो रोज बख्श देता है,
मैं आदत से मजबूर हूँ वो रहमत से मशहूर है.

ai Roj Gunaah Karta Hu Vo Roz Bakhsh Deta Hai,
Mai Aadat Se Majbur Hu, Vo Rahmat Se Mashhur Hai.


Gunaah Status In Hindi


7.
गुनाह करके कहां छीपाओगे,
ये जमीन और आसमान सब उसका ही है.

Gunaah Karke Kaha Chipaoge,
Ye Jameen Aur Aasmaan Sab Uska Hi Hai.

8.
आशिक हूँ तेरा भोले अब तेरी रजा बता दे,
गुनाह हैं गर ये तो सजा बता दे.

Aashiq Hu Tera Ab Teri Raja Bata De, 
Gunaah Hai Gar Ye To Saza Bata De.

9.
देखा तो सब के सर पे गुनाहों का बोझ था,
ख़ुश थे तमाम नेकियाँ दरिया में डाल कर. मोहम्मद अल्वी

Dekha To Sab Ke Sir Pe Gunaaho Ka Bojh Tha,
Khush The Tamaam Nekiya Dariya Me Daal Kar.

10.
तलब मौत की करना गुनाह है ज़माने में यारों,
मरने का शौक है तो मोहब्बत क्यों नहीं करते.

Talab Maut Ki Karna Gunaah Hai Jamane Me Yaro,
Marne Ka Shauk Hai To Mohabbat Kyo Nahi Karte.


Gunaah Par Shayari


11.
न जिद है न हमे कोई गुरूर है बस तुम्हे पाने का हमे सुरूर है,
इश्क गुनाह है तो गलती की अब सजा जो भी हो हमे मंजूर है.

Na Zid Hai Na Hame Koi Gurur Hai Bas Tumhe Pane Ka Hame Surur Hai,
Ishq Gunaah Hai To Galti Ki Ab Saza Jo Bhi Ho Hame Manjoor Hai.


इन्हें भी पढ़े :- 30+ Haq Status In Hindi ( हक पर शायरी )


12.
कोई गुनाह नहीं है इश्क़ जो हम छुपांएगे,
हमने चाहा है तुमको हम तो सबको बताएँगे.

Koi Gunaah Nahi Hai Ishq Jo Ham Chupayenge,
Hamne Chaha Hai Tumko Ham To Sabko Bateyenge.

13.
वो रख ले कहीं अपने पास हमें कैद करके,
काश की हमसे कोई ऐसा गुनाह हो जाये.

Vo Rakh Le Kahi Apane Paas Hame Qaid Karke,
Kash Ki Hamse Koi Aisa Gunaah Ho Jaye.

14.
कर दे मेरे गुनाहों को माफ़ ए ख़ुदा,
सुना है सोने के बाद, कुछ लोगों की सुबह नही होती,

Kar De Mere Gunaaho Ko Maaf Ae Khuda,
Suna Hai Sone Ke Baad, Kuch Logo Ki Subah Nahi Hoti.


Gunaah Status 2 Line


15.
चल सनम एक गुनाह करते हैं,
तुम बाँहों में रहो हम मोहब्बत बेपनाह करते हैं.

Chal Sanam Ek gunaah Karte Hai,
Tum Baho Me Raho Ham Mohabbat Bepanaah Karte Hai.

16.
गुनाह यार ए मोहब्बत हुआ है मुझसे,
गुजारिश है कोई मेरे दिल को फांसी दे दो.

Gunaah Yaar Ae Mohabbat Hua Hai Mujhase,
Gujaarish Hai Koi Mere Dil Ko Fansi De Do.

17.
इश्क़ इनायत है खुदा की,
तो मैं गुनाहगार कैसे.

Ishq Inaayat Hai Khuda Ki,
To Mai Gunahgaar Kaise.

18.
इश्क़ अगर गुनाह है तो गुनाहगार है खुदा,
जिसने बनाया दिल किसी पर आने के लिए.

Ishq Agar Gunaah Hai To Gunahgaar Hai Khuda,
jisane Banaya Dil Kisi Par Aane Ke Liye.


Gunaah Status 2 Line


19.
सजा मिली उन गुनाहों की जो मेरे हरगिज न थे,
मैं वो आँसू भी रोया जो खान साहब के नसीब में न थे.

Saza Mili Un Gunaaho Ki Jo Mere Hagij na The,
Mai Vo Aansu Bhi Roya Jo Khan Saahab Ke Naseeb Me Na The.


इन्हें भी पढ़े :- 20+ Sukoon Status ( सुकून प शायरी )


20.
गुनाह मेरे बड़े हैं, हैं तेरा दिल भी बड़ा,
यकीन हैं माफ करेगा तभी हूँ दर पे खड़ा.

Gunaah Mere Bade Hai, Hai Tera Dil Bhi Bada,
Yakin Hai Maaf Karega Tabhu Hu Dar Pe Khada.

21.
दुश्मनी हो जाती है मुफ्त में सैंकड़ों से,
इंसान का बेहतरीन होना ही गुनाह है.

Dushmani Ho Jati Hai Muft Me Saikado Se,
Insaan Ka Behtarin Hona Hi Gunaah Hai.

22.
गुनाह ही समझते हैं लोग मोहब्बत को,
चाहे रब से हो य़ा यार से.

Gunaah Hi Samajhte Hai Log Mohabbat Ko,
Chahe Rab Se Ho Ya Yaar Se.

23.
ता-मत-गिन इश्क़ में किसने क्या गुनाह किया,
इश्क़ इक नशा था जो तूने भी किया और मैंने भी किया.

Ta-Mat-Gin Ishq Me Kisane Kya Gunaah Kiya,
Ishq Ek Nasha Tha Jo Tune Bhi Kiya Aur Maine Bhi Kiya.


Gunaah Shayari In Urdu


24.
कोई अच्छा सा बहाना बनाना तुम मुझ से खफ़ा होने का,
क्यूँकि तुझे चाहने के सिवा मैने अब तक कोई गुनाह नहीं किया है.

Koi Achha Sa Bahana Banana Tum Mujh Se Khafa Hone Ka,
Kyuki Tujhe Chahne Ke Siwa Maine Ab Tak Koi Gunaah Nahi Kiya Hai.

25.
मोहब्बत करना गुनाह नहीं हैं,
मोहब्बत में बहक जाना गुनाह हैं.

Mohabbat Karna Gunaah Nahi Hai,
Mohabbat Me Bahak Jana Gunaah Hai.

26.
गुनाहे इश्क में इक वो दौर भी बहुत खास रहा,
जब मेरा ना होकर भी तू मेरे बहुत पास रहा.

Gunaahe IShq Me Ek Vo Daur Bhi Bahut Khas Raha,
Jab Mera Na Hokar Bhi Tu Mere Paas Raha.


Final Word :-

आशा करता हु कि आपको हमारा Gunaah Shayari का पोस्ट जरुर पसंद आया होगा, इसी तरह के और शायरियों को पढ़ने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को जरुर पढ़े.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *