B.com Full Form In Hindi / बी० कॉम का फुल फॉर्म क्या होता है

B.Com Full Form in Hindi

क्या आप B.com का फुल फॉर्म जानते है ? यदि नहीं तो हम आपको अपने पोस्ट में B.com से जुड़े सभी चीजो को Step By Step करके जानकारी उपलब्ध कराने जा रहे है. जिसमे B.com के फुल फॉर्म, बी० कॉम के सभी विषय, B.com कितने साल का होता है और भी कई चीजे इस पोस्ट मौजूद है.

आशा करता हूँ की आपको ये जानकारी अच्छी लगेगी जिसमे हमने B.com Full Form In Hindi की पोस्ट को साझा किया है. जिसको आप पढ़कर B.com से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारिया प्राप्त कर सकेंगे.

B.com Full Form In Hindi / बी० कॉम का फुल फॉर्म

B.Com का Full Form “Bachelor of Commerce” होता हैं, इसे हिंदी में ‘वाणिज्य स्नातक’ भी कहते हैं. यह एक Under-Graduate कोर्स होता हैं, और यह 3 वर्ष ( साल ) का कोर्स होता हैं.

B.com Bachelor of Commerce

बी.कॉम क्या है ? (What is B.Com in Hindi)

What is B.Com in Hindi
What is B.Com in Hindi

B.Com एक Under-Graduation कोर्स होता हैं यह 12th पास करने के बाद होता है इस कोर्स को करने के बाद ग्रेजुएट हो जाते हैं। B.Com का कोर्स 3 साल का होता है, 3 साल के अंदर इसमें से सेमेस्टर होते हैं.

इस कोर्स में आप Business Management, Marketting, Company Law, Business Statics, Accounting, GST, Auditing आदो जैसे कई विषय के बारे जान पाएंगे.

यह कोर्स लगभग सभी यूनिवर्सिटी द्वारा कराई जाती हैं, जो छात्र अपना ट्वेल्थ कॉमर्स सब्जेक्ट से पूरा करते हैं उनके लिए यह सबसे अच्छा कोर्स होता है.

B.Com कोर्स करने के लिये योग्यता ? (Eligibility For B.Com)

B.Com कोर्स पूरे 3 साल का होता हैं, इस कोर्स में कुल 6 सेमेस्टर होते हैं, जिसमे 1 साल में 2 सेमेस्टर होते हैं, हर सेमेस्टर के अंत में इसकी परीक्षा होती हैं जिसमें पास होना अति आवश्यक है जब आप उस परीक्षा में पास हो जाते हैं तभी आप अगले सेमेस्टर में जानें के योग्य होते हैं अथवा नहीं.

B.Com कोर्स कितने साल का होता है? ( B.Com Course Duration)

बी कॉम कोर्स को करने के लिए जो योग्यताएं होनी चाहिए वह इस प्रकार से हैं-

  • B.Com कोर्स को करने के लिए हमारा ट्वेल्थ (12th) पास होना अति आवश्यक है.
  • इस कोर्स को कॉमर्स तथा पीसीएम (Commerce/PCM) दोनों कर सकते हैं.
  • इस कोर्स को करने के लिए 12th में आपके पास मैथ सब्जेक्ट होना जरूरी होता है.
  • इस कोर्स को करने के लिए ट्वेल्थ में आपके कम से कम 45% मार्क होने महत्वपूर्ण है.

B.Com कोर्स की फीस? ( B.Com Course Fee In Hindi)

बी-कॉम कोर्स को करने में कितनी फीस लगेगी यह इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस तरह के कॉलेज से बी-कॉम का कोर्स कर रहे हैं क्योंकि सरकारी तथा प्राइवेट कालेजो की फीस अलग अलग होती है. सरकारी कॉलेजों के मुकाबले प्राइवेट कॉलेजो की फीस अधिक होती है.

B.Com कोर्स करने के फायदे? (Advantages of B.Com Course In Hindi)

Advantages of B.Com Course In Hindi
Advantages of B.Com Course In Hindi

यदि आप बी-कॉम कोर्स को कर लेते है तो आपको बहुत से फायदे मिल सकते है जो निम्न प्रकार से है :-

  • यदि आप साइंस के क्षेत्र नहीं जाना चाहते हैं आपके लिए यह कोर्स बहुत ही अच्छा कोर्स होता है.
  • इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप किसी भी कंपनी में जॉब भी कर सकते हैं या फिर आगे की पढ़ाई भी कर सकते हैं.
  • बी० कॉम एक अंडर-ग्रेजुएशन कोर्स होता है, इस कोर्स को करने के बाद आपका ग्रेजुएशन भी पूरा हो जाता है.

B.Com के बाद नौकरी के पद (Job Position)

बी० कॉम करने के बाद यदि हम कहीं पर जॉब करते हैं तो हमारा जो पद होता है वह इस प्रकार से है :-

  • Accountant
  • Account Executive
  • Book keeper
  • Bank PO
  • Event Manager
  • Budget Analyst
  • Business Consultant

Final Word :-

आशा करता हु कि आपको हमारे द्वारा बनाए गये B.com Full Form In Hindi का पोस्ट जरुर पसंद आया होगा, इसी तरह के और भी पोस्ट को पढ़ने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को भी जरुर देखे.

Leave a Comment

Your email address will not be published.