Bachpan Shayari / 80+ Best 2 Lines Shayari On Bachpan

Bachpan Shayari के कलेक्शन में पढ़े बेस्ट Heart Touching Bachpan Shayari, Funny Bachpan Shayari, बचपन पर शायरी, बचपन शायरी 2 लाइन, जैसे और भी बहुत कुछ पढ़े.

दोस्त अपना बचपन हर किसी को याद रहता है अपने अपने बचपन में हर कोई न कोई नटखट, शैतानिया जैसी चीजे करता है वही सभी बाते लोगो को बड़े होने के बाद बस यादे बनकर रह जाती है.

Bachpan Shayari

आज का हमारा टॉपिक काह बचपन से जुडी कुछ शेरो-शायरियों पर बनाया गया है जहा आप बचपन से जुडी शायरियों को पढ़कर इस पोस्ट के और भी मजे ले पायेंगे.

दोस्तों यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आये तो आप इसे अपने दोस्तों को भी जरुर शेयर करे ताकि वो भी इन शायरियों को पढ़कर अपने बचपन की यादो को ताजा कर सके और मजे ले सके. तो चलिए शुरू करते है पोस्ट को पढना.


Bachpan Shayari


1.
बचपन भी कमाल का था खेलते खेलते, चाहें छत पर सोयें, या ज़मीन पर, आँख बिस्तर पर ही खुलती थी.

Bachpan Bhi Kamaal Ka Tha Khelte Khelte,
Chaahe Chat Par Soye Ya Jamin Par,
Aankh Bistar Par Hi Khulati Hai.


2.
मुझे फिर से थमा दे ओ माँ, वही मेरे स्कूल का बैग, अब मुझे और नहीं सहा जाता, इस जिन्दगी का भारी बोझ.

Mujhe Phir Se Thamaa De O Maa,
WaMere School Ka Bag
Ab Mujhe Aur Nahin Sahaa Jata,
Is Zindagii Ka Bharii Bhojh,


3.
भीगी हुयी जिंदगी की यही कहानी है, कुछ बचपन से नालायक था, बाकी आप सबकी मेहरबानी है.

Bheegi Huyi Zindagi Ki Yahi Kahaani Hai,
Kuch Bachpan Se Nalaayak Tha,
Baaki Aap Sabaki Mehabaani Hai.


4.
याद कर रहा अपना बचपन, कब कितना मैं बड़ा हुआ था, माँ के पल्लू के सम्बल से, किस हालत मे खड़ा हुआ था.

Yaad Kar Raha Apana Bachpn,
Kab Kitna Mai Bada Hua Tha,
Maa Ke Pallu Ke Sambal Se,
Kis Haalat Me Khada Hua.


इन्हें भी पढ़े :- Andaj Shayari In Hindi With Images


2 Lines Shayari On Bachpan

5.
बचपन में जहाँ चाहा हँस लेते थे, जहाँ चाहा रो लेते थे, और अब मुस्कान को तमीज चाहिए, और आंशुओं को तन्हाई.

Bachpan Me Jaha Chaaha Has Lete The,
Jaha Chaaha Ro Lete The,
Aur Ab Muskaan Ko Tamij Chahiye,
Aur Aansuo Ko Tanhaayi.


6.
किसने कहा नहीं आती वो बचपन वाली बारिश, तुम भूल गए हो शायद अब नाव बनानी कागज़ की.

Kisane Kaha Nahi Aati Vo Bachpan VaalI Barish,
Tum Bhul Gaye Ho Shaayad Ab Naav Baaani Kaagaj Ki.


7.
बचपन के दिन भी कितने अच्छे होते थे, तब दिल नहीं सिर्फ खिलौने टूटा करते थे, अब तो एक आंसू भी बर्दाश्त नहीं होता, और बचपन में जी भरकर रोया करते थे.

Bachpan Ke Din Bhi Kitane Achhe Hote The,
Tab Dil Nahi Sirf Khilaune Toota Karte The,
Ab To Ek Aansu BhI Bardasht Nahi Hota,
Aur Bachpane Me Ji Bharkar Roya Karte The.


2 Lines Shayari On Bachpan


8.
मम्‍मी की गोद और पापा के कंधे, न पैसे की सोच और न लाइफ के फंडे, न कल की चिंता और न फ्यूचर के सपने, अब कल की फिकर और अधूरे सपने.

Mammi Ki GodAur Paapa Ke Kandhe<
Na Paise Ki Soch Aur Na Life Ke Fande,
Na Kal Ki Chinta Na Future Ke Sapane,
Ab Kal Ki Fikar Aur Adhure Sapane.


9.
एक बचपन का जमाना था, जिस में खुशियों का खजाना था. चाहत चाँद को पाने की थी, पर दिल तितली का दिवाना था.

Ek Bachpan Ka Jamaana Tha,
Jis Me Khushiyo Ka Khajaana Tha,
Chaahat Chaand Ko Paane Ki Thi,
Par Dil Titali Ka Divaana Tha.


10.
ना फ़िक्र थी ना चिंता थी, खेलने की अटूट क्षमता थी, करते रहते कोई ना कोई कारनामा, बना कर रख देते जीवन को हंगामा.

Na Fikra Ki Chinta Thi,
Na Khelane Ki Atoot Chamta Thi,
Karte Rahate Koi Na Koi Kaarnaama,
Bana Kar Rakh Dete Jivan Ko Hangaama.


11.
ना कुछ पाने की आशा ना कुछ खोने का डर, बस अपनी ही धुन, बस अपने सपनो का घर, काश मिल जाए फिर मुझे वो बचपन का पहर.

Na Kuch Paane Ki Aasha Na Kuch Khone Ka Dar,
Bas Apani Hi DhuN Bas Apane Sapano Ka Ghar,
Kash Mil Jaaye Fir Se Vo Bachpan Ka Pahar.


12

12.
ना मुझे किसी का दिल चाहिए, ना मुझे जमाने से कोई आस है, जो अपनी गर्लफ्रेंड से मेरी सेटिंग करवा दे, मुझे उस सच्चे दोस्त की तलाश है.

Na Mujhe Kisi Ka Dil Chahiye,
Na Mujhe Jamaane Se Koi Aas Hai,
Jo Apani Girlfriend Se Meri Setting Karva De,
Mujhe Us Sachhe Dost Ki Talaash Hai.


13.
काग़ज़ की कश्ती थी पानी का किनारा था, खेलने की मस्ती थी ये दिल अवारा था, कहाँ आ गए इस समझदारी के दलदल में,वो नादान बचपन भी कितना प्यारा था.

Kaagaj Ki Kashti Thi Pani Ka Kinaara Tha,
Khelne Ki Masti Thi Ye Dil Avaara Tha,
Kaha Aa Gaye Is Samajhdari Ke Daldal Me,
Vo Naadaan Bachpan Bhi Kitna Pyaara Tha.


14.
वो बचपन क्या था, जब हम दो रुपए में जेब भर लिया करते थे, वो वक़्त ही क्या था, जब हम रोकर दर्द भूल जाया करते थे.

Vo Bachpan Kya Tha,
Jab Ham Do Rupaye Me Jeb Bhar Liya Karte The,
Vo Vakt Hi Kya Tha,
Jab Ham Rokar Dard Bhul Jaaya Karte The.


Best Bacpan Shayari In Hindi


15.
जिस के लिए बच्चा रोया था, और पोंछे थे आँसू बाबा ने, वो बच्चा अब भी ज़िंदा है, वो महँगा खिलौना टूट गया.

Jis Ke Liye Bachha Roya Tha,
Aur Poche The Aansu Baaba Ne,
Vo Bachha Ab Bhi Zinda Hai,
Vo Mahanga Khilauna Toot Gaya.


16.
वो बचपन भी क्या दिन थे मेरे, न फ़िक्र कोई न दर्द कोई, बस खेलो, खाओ, सो जाओ, बस इसके सिवा कुछ याद नहीं.

Vo Bachpan Ke Bhi Kya Din The Mere,
Na Fikra Koi Na Dad Koi,
Bas Khelo, Khaao, So Jaao,
Bas Isake Siva Kuch Yaad Nahi.


17.
रोने की वजह भी न थी, न हंसने का बहाना था, क्यो हो गए हम इतने बडे, इससे अच्छा तो वो बचपन का जमाना था.

Rone Ki Wajah Na Thi,
Na Hasne Ka Bahaana Tha,
Kyo Ho Gaye Ham Itane Bade,
Isase Achha To Vo Bachpan Ka Jamaaana Tha.


Bachpan Shayari 2 Line


18.
जिंदगी फिर कभी न मुस्कुराई बचपन की तरह, मैंने मिट्टी भी जमा की खिलौने भी लेकर देखे.

Zindagi Phir Kabhi Na Muskurai Bachpan Ki Tarha
Maine Mitti Bhi Jama Ki Khilone Bhi Lekar Dekhe.


19.
बिना समझ के भी, हम कितने सच्चे थे, वो भी क्या दिन थे, जब हम बच्चे थे.

Bina Samajh Ke Bhi, Ham Kitane Sachhe The,
Vo Bhi Kya Din The, Jab Ham Bachhe The.


इन्हें भी पढ़े :- Best 60+ आशिकी पर शायरी इन हिंदी


20.
वास्तविकता को जानकर, मेरा भी सपनों से समझौता हुआ, लोग यही समझते रहे, लो एक और बच्चा बड़ा हुआ.

Vastvikta Ko Jaankar Mera Bhi Sapano Se Samjhauta Hua,
Log YahiSamajhte Rahe, Lo Ek Aur Bachha Bada Hua.


 

Best Bachpan Shayari

21.
चले आओ कभी टूटी हुई चूड़ी के टुकड़े से, वो बचपन की तरह फिर से मोहब्बत नाप लेते हैं.

Chale Aao Kabhi Tooti Huyi Chudi Ke Tukade Se,
Vo Bachpan Ki Tarah Fir Se Mohabbat Naap Lete Hai.


22.
झूठ बोलते थे फिर भी कितने सच्चे थे हम, ये उन दिनों की बात हैं जब बच्चे थे हम.

Jhuth Bolate The Fir Bhi Kitane Sacche The Ham,
Ye Un Dino KiBaat Hai Jab Bachhe The Ham.


23.
महफ़िल तो जमी बचपन के दोस्तों के साथ, पर अफ़सोस अब बचपन नहीं है किसी के पास.

Mahfil To Jami Bachpan Ke Dosto Ke Sath,
Par Afsos Ab Bachpan Nahi Hai Kisi Ke Paas.


24.
बचपन तोह बचपन होता, मन करता मेरा दोबारा बच्चा बन जाऊ.

Bachpan Toh Bachpan Hota,
Man Karta Mera Dobaara Bachha Ban Jaau.


2 Lines Shayari On Bachpan


25.
जिस के लिए बच्चा रोया था और पोंछे थे आँसू बाबा ने, वो बच्चा अब भी ज़िंदा है वो महँगा खिलौना टूट गया.

Jis Ke Liye Bachha Roya Tha Aur Paudhe The Aansu Baane Ne,
Vo Bachha Ab Bhi Zinda Hai Vo Mahanga Khilauna Toot Gaya.


26.
जिसने मेरे बचपन की पदचाप सुनी, अपने घर का ऐसा कोना हाथ लगा.

Jisane Mere Bachpan Ki Padchaap Suni,
Apane Ghar Ka Aisa Kona Haath Laga.


27.
हँसते खेलते गुजर जाए वैसी शाम नहीं आती हैं, होठों पर अब बचपन वाली मुस्कान नहीं आती हैं.

Haste Khelte Gujar Jaaye Vaisi Shaam Nahi Aati Hai,
Hotho Par Ab Bachpan Vaali Muskaan Nahi Aati Hai.


28.
कितना आसान था बचपन में सुलाना हम को, नींद आ जाती थी परियों की कहानी सुन कर.

Kitna Aasaan Tha Bachpan Me Sulaana Ham Ko,
Nind Aa Jaati Thi Pariyo Ki Kahaani Sun Kar.


2 Lines Shayari On Bachpan

29.
बच्चों के छोटे हाथों को चाँद सितारे छूने दो, चार किताबें पढ़ कर ये भी हम जैसे हो जाएँगे.

Bachho Ke Chote Hatho Ko Chand Sitaare Chune Do,
Chaar Kitaabe Padh Kar Ye Bhi Ham Jaisai Ho Jaayenge.


30.
बचपन में आकाश को छूता सा लगता था, इस पीपल की शाख़ें अब कितनी नीची हैं.

Bachpan Me Aakash Ko Chuta Sa Lagta Tha,
Is Pipal Ki Shaakhe Ab Kitani Nichi Thi.


31.
उड़ने दो परिंदों को अभी शोख़ हवा में, फिर लौट के बचपन के ज़माने नहीं आते.

Udane Do Parinde Ko Abhi Shokh Hava Me,
Fir Laut Ke Bachpan Ke Jamaane Nahi Aate.


32.
मैं ने बचपन में अधूरा ख़्वाब देखा था कोई, आज तक मसरूफ़ हूँ उस ख़्वाब की तकमील में.

Mai Ne Bachpan Adhura Dekha Tha Koi,
Aaj Tak Mashruf Hu Us Khwaab Ki Takmil Me.


Bachpan Shayari In Hindi For Fb


33.
बचपन में तो शामें भी हुआ करती थी, अब तो बस सुबह के बाद रात हो जाती है.

Bachpan Me To Shaame Bhi Hua Karti Thi,
Ab To Bas Subah Ke Baad Raat Ho Jaati Hai.


34.
बाग़ में तितली को पकड़ खुश होना, तारे तोड़ने जितनी ख़ुशी देता था.

Baag Me Titali Ko Pakad Khush Hona,
Taare Todae Zitani Khushi Deta Tha.


इन्हें भी पढ़े :- Best 5०+ अलविदा पर शायरी हिंदी में


35.
लौटा देती ज़िन्दगी एक दिन नाराज़ होकर, काश मेरा बचपन भी कोई अवार्ड होता.

Lauta Deti Zindagi Ek Din Naraaj Hokar,
Kash Mera Bachpan Bhi Koi Award Hota.


36.
देर तक हँसता रहा उन पर हमारा बचपना, जब तजुर्बे आए थे संजीदा बनाने के लिए.

Der Tak Hasta Raha Un Par Hamaara Bachpana,
Jab Tajurbe Aaye The Sanjida Banaane Ke Liye.


37.
काग़ज़ की नाव भी है, खिलौने भी हैं बहुत, बचपन से फिर भी हाथ मिलाना मुहाल है.

Kaagaj Ki Naav Bhi Hai Khilaune Bhi Hai,
Bachpan Se Fir Bhi Hath Milaana Muhaal Hai.


38.
ज़िन्दगी छोड़ आया हूँ कहीं उन गलियों मे, जहाँ कभी दौड़ जाना ही ज़िन्दगी हुआ करती थी.

Zinagi Chod Aaya Hu Kahi Un Galiyo Me,
Jaha Kabhi Daud Jaana Hi Zindagi Hua Karti Thi.


39.
उड़ने दो परिंदों को अभी शोख़ हवा में,फिर लौट के बचपन के ज़माने नहीं आते. बशीर बद्र

Udane Do Parindo Ko Abhi Shokh Hava Me,
Fir Laut Ke Bachpan Ke Jamaane Nahi Aate.


40.
घर का बोझ उठाने वाले बच्चे की तक़दीर न पूछ, बचपन घर से बाहर निकला और खिलौना टूट गया.

Ghar Ka Bojh Uthaane Vaale Bachhe Ki Takdir Na Puch,
Bachpan Ghar Se Baahar Nikla Aur Khilauna Toot Gaya.


41.
जो सोचता था बोल देता था, बचपन की आदतें कुछ ठीक ही थी.

Jo Sochta Tha Bol Deta Tha,
Bachpan Ki Aadate Kuch Thik Hi Thi.


Bachpan Shayari In Hindi For Fb

42.
दिल अब भी बचपना है, बचपन वाले सपने अब भी ज़िंदा हैं.

Dil Ab Bhi Bachpana Hai,
Bachpan Vaale Sapane Ab Bhi Zinda Hai.


43.
बचपन समझदार हो गया, मैं ढूंढता हू खुद को गलियों मे.

Bachpan Samajhdaar Ho Gaya,
Mai Dhundhta Hu Khud Ko Galiyo Me.


Funny Bachpan Shayari


44.
कितने खुबसूरत हुआ करते थे बचपन के वो दिन, सिर्फ दो उंगलिया जुड़ने से दोस्ती फिर से शुरु हो जाया करती थी.

Kitane Khubsoorat Hua Karte The Bachpan Ke Din,
Sirf Don Ungaliyaan Judane Se Dosti Phir Se Shuru Ho Jaayaa Kartii Thi.


45.
देखो बचपन में तो बस शैतान था, मगर अब खूंखार बन गया हूँ.

Dekho Bachpan Me To Bas Shaitaan Tha,
Magar Ab Khunkhaar Ban Gaya Hu.


46.
ज्यादा कुछ नही बदलता उम्र बढने के साथ, बचपन की जिद समझौतों मे बदल जाती है.

Kyaada Kuch Nahi Badalta Umra Badhane Ke Sath,
Bachpan Ki Zidd Samjhaute Me Badal Jaati Hai.


47.
बचपन में भरी दुपहरी नाप आते थे पूरा गाँव, जब से डिग्रियाँ समझ में आई, पाँव जलने लगे.

Bachpan Me Bhari Dupahari Naap Aate The Pura Gaav,
Jab Se Deggriya Samajh Me Aayi Paav Jalne Lage.


इन्हें भी पढ़े :- Rahat Indori Shayari In Hindi With Images


48.
बचपन के प्यार को यूँ जुदा न करना, याद हमारी आये तो मिलने की दुआ करना.

Bachpan Ke Pyaar Ko Yu Juda Na Karna,
Yaad Hamari Aaye To Milane Ki Dua Karna.


49.
अपने बच्चों को मैं बातों में लगा लेता हूं, जब भी आवाज़ लगाता है खिलौने वाला.

Apane Bachho Ko Mai Baato Me Laga Deta Hu,
Jab Bhi Aavaaj Lagaat Hai Khilaune Vaala.


50.
कागज़ के जहाज बरसात के पानी मे चलाकर, गली में सबसे अमीर हुआ करते थे.

Kaagaj Ki Jahaaj Barsat Ke PaanI Me Chalaakar,
Gali Me Sabase Amir Hua Karte The.


51.
दूर मुझसे हो गया बचपन मगर, मुझमें बच्चे सा मचलता कौन है.

Dur Mujhase Ho Gaya Bachpan Magar,
Mujhase Bachhe Sa Machalta Kaun Hai.


52.
हंसने की भी, वजह ढूँढनी पड़ती है अब, शायद मेरा बचपन, खत्म होने को है.

Hasane Ko Bhi Vajah Dhundhni Padti Hai Ab,
Shaayad Mera Bachpan Khatm Hone Ko Hai.


53.
एक हाथी एक राजा एक रानी के बग़ैर, नींद बच्चों को नहीं आती कहानी के बग़ैर.

Ek Hathi Sa Raaja Ek Raani Ke Bagair,
Nind Bachho Ko Nahi Aati Kahaani Ke Bagair.


Best Bachpan Shayari Image


Funny Bachpan Shayari

54.
आते जाते रहा कर ए दर्द, तू तो मेरा बचपन का साथी है.

Aate Jaate Raha Kar Ae Dard,
Tu To Mera Bachpan Ka Sathi Hai.


55.
चलो आज बचपन का कोई खेल खेलें, बड़ी मुद्दत हुई बे-वजह हंसकर नहीं देखा.

Chalo Aaj Bachpan Ka Koi Khe Khele,
Badi Muddat Hui Be-Wajah Haskar Nahi Dekha.


56.
बचपन की दोस्ती थी बचपन का प्यार था, तू भूल गया तो क्या तू मेरे बचपन का यार था.

Bachpan Ki Dosti Thi Bachpan Ka Hi Pyaar Tha,
Tu Bhul Gaya To Kya Tu Mere Bachpan Ka Yaar Tha.


57.
अजीब सौदागर है ये वक़्त भी, जवानी का लालच दे के बचपन ले गया.

Ajib Saudaagar Hai Ye Vakt Bhi,
Javaani Ka Laalach De Ke Bachpan Le Gaya.


58.
कितने खुबसूरत हुआ करते थे, बचपन के वो दिन, सिर्फ दो उंगलिया जुड़ने से, दोस्ती फिर से शुरु हो जाया करती थी.

Kitne Khubsurat Hua Karte The,
Bachpan Ke Vo Din,
Sirf Do Ungaliya Judane Se,
Dosti Fir Se Shuru Ho Jaaya Karti Thi.


59.
बचपन मे सोचा था चाँद को छू लूँ, तुमको देखा तो ये ख्वाहिश जाती रही.

Bachpan Me Socha Tha Chaad Ko Chhu Lu,
Tumko Dekha To Ye Khwaahish Jaati Rahi.


इन्हें भी पढ़े :- 165+ Eyes Quotes Images » 2020 आंख शायरी


60.
दहशत गोली से नही दिमाग से होती है, और दिमाग तो हमारा बचपन से ही खराब है.

Dahshat Goli Se Nahi Dimaag Se Hoti Hai,
Aur Dimaag To Hamaara Bachpan Se Hi Kharaab Hai.


Heart Touching Bachpan Shayari


61.
यारों ने मेरे वास्ते क्या कुछ नहीं किया, सौ बार शुक्रिया अरे सौ बार शुक्रिया.

Yaaro Ne Mere Vaaste Kya Kuch Nahi Kiya,
Sau Baar Shukriya Are Sau Baar Shukriya.


62.
जिंदगी फिर कभी न मुस्कुराई बचपन की तरह, मैंने मिट्टी भी जमा की खिलोने भी लेकर देखे.

Zindagi Phir Kabhi Na Muskurai Bachpan Ki Tarha,
Maine Mitti Bhi Jama Ki Khilone Bhi Lekar Dekhe.


63.
मैंने मिट्टी भी जमा की, खिलौने भी लेकर देखे, जिन्दगी में वो मुस्कुराहट नही आई जो बचपन में देखे.

Maine Mitti Bhi Jama Ki, Khilaune Bhi Lekar Dekhe,
Zindagi Me Vo Muskuraahat Nahi Aayi Jo Bachpan Me Dekhe.


64.
बचपन साथ रखियेगा जिंदगी की शाम में, उम्र महसूस नहीं होगी सफ़र के मुकाम में.

Bachpan Sath Rakhiyega Ki Shaam Me,
Umra Mahsus Nahi Hogi Safa Ae Mukaam Me.


65.
स्कूल का वो बैग, फिर से थमा दे माँ, यह जिन्दगी का बोझ, उठाना मुश्किल है.

School Ka Vo Baig, Fir Se Thama De Maa,
Yah ZindagiKa Bojh, Uthaana Mushkil Hai.


66.
बचपन के किस्सों में जिन्दगी ढूढ़ते हैं, वो बे परवाह बचपन, वो छोटी-छोटी खवाहिशें.

BachpanKe Kisse Me Zindagi Dhundhate The,
Vo Be Parvaah Bachpan, Vo Choti-Choti Khwaahishe.


Bachpan Shayari In Urdu


67.
सुकून की बात मत कर ए ग़ालिब, बचपन वाला इतवार अब नही आता.

Sukun Ki Baat Mat Kar Ae Gaalib,
Bachpan Vaala Itvaar Ab Nahi Aata.


68.
बेफिकर थे बेशरम थे उम्र की उस दौर में, ना जाने कहां खो गए जिन्दगी की होर में.

Befikar Besharam Teri Umra Ki Use Daur Mein,
Na Jaane Kahan Kho Gaye Jindagi Ki Hor Mein.


69.
खुदा अबके जो मेरी कहानी लिखना, बचपन में ही मर जाऊ ऐसी जिंदगानी लिखना.

Khuda Abke Jo Meri Zindagaani Lijhna,
Bachpan Me Hi Mar Jaau Aisi Zindagaani Likhna.


Shayari On Bachpan By Gulzar


70.
उम्र-ऐ-जवानी फिर कभी ना मुस्करायी बचपन की तरह, मैंने साइकिल भी खरीदी, खिलौने भी लेके देख लिए.

Umra-Ae-Javaani Fir Kabhi Na Muskuraayi Bachpan Ki Tarah,
Maine Cycle Bhi Kharidi Khilaune Bhi Leke Dekh Liye.


71.
असीर-ए-पंजा-ए-अहद-ए-शबाब कर के मुझे, कहाँ गया मेरा बचपन ख़राब कर के मुझे.

Asir-Ae-Panja-Ae-Shabaad Kar Ke Mujhe,
Kaha Gaya Mera Bachpan Kharaab Kar Ke Mujhe.


Final Word :- 

आशा करता हु कि आपको हमारा Bachpan Shayari का पोस्ट जरुर पसंद आया होगा, इसी तरह के और शायरियों को पढ़ने के लिए आप हमारे और भी पोस्ट को जरुर पढ़े.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *